• warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/module.inc on line 273.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/module.inc on line 273.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/browscap/browscap.module on line 8.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/bootstrap.inc on line 706.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/module.inc on line 273.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/skinr/skinr.module on line 419.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/skinr/skinr.module on line 428.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/skinr/skinr.module on line 428.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/skinr/skinr.module on line 428.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/skinr/skinr.module on line 428.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/skinr/skinr.module on line 428.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/date/date/date.module on line 13.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/modules/date/date/date.module on line 15.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 167.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/themes/engines/phptemplate/phptemplate.engine on line 15.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/sites/all/themes/fusion/fusion_core/template.php on line 4.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/module.inc on line 273.
  • warning: include(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 1078.
  • warning: include(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 1078.
  • warning: include(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 1078.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/unicode.inc on line 339.
  • warning: include(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 1078.
  • warning: include(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 1078.
  • warning: include(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 1078.
  • warning: include(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 1078.
  • warning: include_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/theme.inc on line 661.
  • warning: require_once(): Unable to allocate memory for pool. in /home/christi/public_html/forjesus/includes/module.inc on line 273.

भगवान में विश्वास

 

भगवान में विश्वास

 
 

हमने देखा है कि भगवान एक अद्भुत प्रदान की गई है मोक्ष आदमी के विद्रोह के सभी परिणामों से है. इस उद्धार के लिए पश्चाताप और विश्वास के माध्यम से प्राप्त किया जाता है. भगवान ने हमें हमारी निष्ठा बदलने के लिए उम्मीद है . अब हम उसे प्यार करना चाहिए और उसकी सेवा - हमारे पुराने स्वार्थी और भ्रष्ट इच्छाओं नहीं. वह चाहता है हमें मुक्त सेट हर उत्पीड़न से .लेकिन के रूप में अच्छी तरह से हम एक जीवित विश्वास के साथ परमेश्वर और अपने वादे पर विश्वास की जरूरत है निष्ठा या पश्चाताप के इस परिवर्तन के रूप में. इस पाठ में हम विचार करेंगे यह क्या भगवान में विश्वास का मतलब है.

आस्था क्या है?

आस्था धर्म नहीं है. कई बार लोगों का कहना है "हम अपने विश्वास है". वे क्या मतलब है इस है: "हम हमारे धार्मिक विचारों और सिद्धांतों, हमारी परंपराओं, पीढ़ियों के माध्यम से नीचे पारित बातें कर के हमारे तरीके तुम उन्हें बदलने की कोशिश मत करो." यह विश्वास की बाइबिल विचार नहीं है.

आस्था मानसिक सहमति नहीं है. यह अपने मन के साथ सहमत नहीं है, "हाँ, है कि सच है." कई professing ईसाइयों का मानना ​​है कि मानसिक रूप से है कि बाइबल परमेश्वर का वचन है, लेकिन इस विश्वास जिस तरह से वे रहते परिवर्तन नहीं करता है. यह एक विश्वास है कि बचा सकता है नहीं है. (जेम्स 2:14)

यहां तक ​​कि राक्षसों विश्वास है कि तरह है. वे जानते हैं और विश्वास है कि भगवान (जेम्स 2:19) मौजूद है - और कांप. वे भगवान में कोई प्यार विश्वास है.

आस्था भगवान हेरफेर नहीं है. यह एक शक्ति है जिसके द्वारा हम परमेश्वर हम क्या चाहते हैं वह अन्यथा जब कि बात करने को तैयार नहीं होगा नहीं है. यह जादू की तरह है जिसके माध्यम से हम अपने दास में भगवान बनाने नहीं है!

विश्वास, आशा नहीं है और न ही सकारात्मक इच्छा. आशा है कि अच्छा है, और भविष्य के लिए संबंधित है. विश्वास, तथापि, के रूप में अब से किया वादा लेता है. कई लोगों को आशा और उत्सुकता से परिणामों के लिए देख रहे हैं, लेकिन वे बसे विश्वास और वर्तमान आश्वासन है जो विश्वास है की कमी है.

शब्द का सामान्य अर्थ में, विश्वास है के लिए कुछ या किसी में विश्वास के लिए पूरी तरह भरोसा है, इतना विश्वास है कि आप क्या आपको लगता है कि अपने कार्यों के आधार है. विश्वास है के लिए पूरी तरह से कि जो आपको लगता है कि सच्चाई और विश्वसनीयता के प्रति आश्वस्त किया जाता है.

भगवान में विश्वास तो, विश्वास और ईश्वर में विश्वास की तरह चल रहा है और मसीह में है कि आप (Justifier, क्लेंसेर मरहम लगाने वाले, उद्धारकर्ता) मुक्तिदाता और भगवान (मास्टर, राजा) के रूप में अपने पूरे आत्मा उसे करने के लिए प्रतिबद्ध करने के लिए सुराग.

एनआईवी अनुवाद कहते हैं, "आस्था क्या हम के लिए आशा के बारे में सुनिश्चित किया जा रहा है, और क्या हम नहीं देखते हैं की कुछ." (इब्रियों 11:1 एनआईवी).

बाइबल के NKJV कहते हैं, "अब विश्वास के लिए, नहीं देखा बातों का सबूत आशा व्यक्त की बातों का पदार्थ है." (इब्रियों 11:01).

विश्वास एक आध्यात्मिक पदार्थ है. जब आप में इस आध्यात्मिक पदार्थ है, यह आप के लिए एक निश्चित जानने कि बात आप के लिए उम्मीद कर रहे हैं निश्चित रूप से स्थापित है, पहले भी आप किसी भी सामग्री का सबूत है कि यह हुआ है देख आंतरिक संचार.

विश्वास एक आध्यात्मिक बल है. भगवान में विश्वास भगवान के शब्द है जो भगवान के कार्य करने के लिए कदम के लिए एक प्रतिक्रिया है. यीशु 11:23 मार्क में कहा विश्वासपूर्वक के लिए मैं तुम से कहता, ", इस पहाड़ से कहते हैं जो भी है, और हटाया समुद्र में डाली, 'और उसके दिल में संदेह नहीं है, लेकिन का मानना ​​है कि उन चीजों वे कहते किया जाएगा , वह वह जो कुछ भी कहते हैं. " असली, शुद्ध विश्वास के साथ मिश्रित शब्द और पहाड़ों या किसी अन्य समस्या यह है कि हम चेहरा स्थानांतरित कर सकते हैं.

दिल से भगवान में विश्वास होना चाहिए. यह केवल बौद्धिक नहीं है. यह आध्यात्मिक है. "के साथ दिल एक धर्म के इधार का मानना ​​है कि, और मुंह की स्वीकारोक्ति के साथ मोक्ष के इधार किया है." (10:10 रोमन)

आस्था आप अपने दिल में पता करने के लिए इससे पहले कि तुम अपनी आँखों से देखने का कारण बनता है. "हम विश्वास से चलना, दृष्टि से नहीं." (5.7 2Cor)

कुछ लोग कहते हैं, "देखना ही विश्वास करना है." एक बार जब आप पहले से ही प्राकृतिक क्रम में मौजूदा, तुम विश्वास की जरूरत नहीं है के लिए आशा व्यक्त की बात देखें.

आशा है कि विश्वास के लिए एक शर्त है. आशा है कि "अच्छे के एक सकारात्मक अटूट उम्मीद". , आत्मा के लिए एक लंगर, आशा है कि (इब्रियों 06:19 1 थिस्सलुनीकियों 5:08) के मन के लिए है. यह हमें जगह है जहाँ हम विश्वास कर सकते हैं में रहता है, लेकिन वह खुद को "विश्वास" में नहीं है. फिर भी, आशा के बिना नहीं "के लिए आशा व्यक्त की बातें" हैं, और इसलिए वहाँ विश्वास नहीं किया जा सकता है.

विश्वास के माध्यम से हम हम हमारी प्रार्थना का जवाब है पता है इससे पहले कि हम प्राकृतिक आदेश (1 जॉन 5:14,15) में कुछ परिवर्तन देख सकते हैं . यीशु ने कहा, "इसलिए मैं आप कहते हैं, चीजें जो कुछ भी आप से पूछना है जब आप प्रार्थना करते हैं, विश्वास है कि आप उन्हें प्राप्त है, और तुम उन्हें होगा. " (11:24 एमके). भगवान की उम्मीद हमें भी हमें आदेश, विश्वास है कि हमारे याचिकाओं भगवान ने उत्तर दिया रहे हैं पर क्षण हम उन्हें . हम पर विश्वास करना चाहिए कि तुरंत प्रतिक्रिया भेजी जाती है जब हम प्रार्थना करते हैं . विश्वास हमारे दिल में पुष्टि पर्ची है कि माल अपने रास्ते पर हैं की तरह है. हम है कि पुष्टि परमेश्वर की ओर से तुरन्त पर्ची. हम यह हमारे दिल में भावना. उन वस्तुओं की अभिव्यक्ति जवाब प्राप्त, बाद के रूप में लंबे समय के रूप में आता है हम मरीज ​​हैं और हमारा विश्वास नहीं दूर फेंक. (इब्रियों 10:35-39; इब्रियों 6:12)

विश्वास एक चेक की तरह है. सब तुम्हें क्या करना है है जांच करने के लिए पर पकड़, बैंक में जाकर इसे वर्तमान और आप विश्वास पैसे आपके खाते में एक निश्चित समय के बाद प्रकट करने के लिए उम्मीद कर सकते हैं. यदि आप चेक फेंक पैसे आपके खाते में नहीं डाला जाएगा. परमेश्वर विश्वसनीय है और हमेशा अपने वादे को वापस करने के लिए संसाधनों की है.

विश्वास लिविंग हमेशा इसी कार्रवाई है. हम बात करते हैं क्या हम सच में विश्वास है, और हम क्या हम सच में विश्वास अनुसार कार्य. अब्राहम की तरह विश्वास के नायकों आस्था के पुरुषों पर विचार किया गया क्योंकि वे क्या भगवान उन्हें पता चला पर काम किया. वे उनके विश्वास पर काम किया. (इब्रियों 11:17-38, जेम्स 2:21-23).

विश्वास में रहते हैं करने के लिए करते हैं और कहते हैं कि तुम क्या विश्वास है कि शक के बिना सही है, मतलब है.

विश्वास एक आराम है. यह आंतरिक शांति के साथ संगत है. यह नहीं "विश्वास करने की कोशिश कर रहा है". कहते हैं कि कि तुम भगवान कहना है कि आप उसे विश्वास नहीं है "विश्वास करने की कोशिश कर रहे हैं". आदमी जो "विश्वास करने की कोशिश कर रहा है" ईमानदारी से हो सकता है, लेकिन हो सकता है वह अभी तक उस क्षेत्र में विश्वास नहीं है.

हम भगवान क्यों विश्वास करना चाहिए? इब्रियों 11:6 कहते हैं, "लेकिन यह विश्वास के बिना असंभव है भगवान कृपया, के लिए वह जो परमेश्वर के लिए आता है पर विश्वास करना चाहिए कि वह है, और कि वह उन लोगों के लिए जो यत्न से उसे तलाश एक rewarder है."

(रोमियो 14:23) "जो कुछ भी आस्था का नहीं है पाप है" और भगवान पाप नफरत करता है. जब हम परमेश्वर पर विश्वास नहीं करते, हम इलाज है कि उसे पसंद है वह एक झूठा है. याद रखें कि वह हर जगह है और सभी चीजों को देखता है. वह जब हम अधिनियम की तरह वह मौजूद नहीं है, या कि वह नहीं होगा कि वह क्या करने का वादा किया चोट लगी है. केवल जब हम भगवान और उनकी वर्ड में विश्वास है तो हम उसे कृपया कर सकते हैं.

विश्वास की कमी आज्ञाकारिता की कमी की ओर जाता है है. भगवान की आज्ञाओं केवल सच में विश्वास के माध्यम से पूरा किया जा सकता है. बिना भगवान में विश्वास का वादा एक आदमी वास्तव में भगवान क्या कहते हैं कभी नहीं होगा. भगवान की आँखों में आज्ञाकारिता की कमी विद्रोह है. आज्ञाकारिता dishonors भगवान के इस तरह के अभाव और निश्चित रूप से दंडित किया हकदार हैं.

(रोमन 1:17) "बस विश्वास से जीवित रहेगा." हम विश्वास से जीना चाहिए क्रम में परमेश्वर के द्वारा विचार किया जाना "ठीक है" और "सही". वरना हम निंदा खड़े हो जाओ.

जो लोग भगवान पर विश्वास नहीं करते अनिवार्य रूप से कुछ में विश्वास. या तो धार्मिक परंपरा, या विज्ञान की उनकी समझ, या महिलाओं की पत्रिका का कहना है, या अपने अगले दरवाजे पड़ोसी उन्हें शिक्षा प्रणाली, बड़े पैमाने पर मीडिया या इन सब बातों का एक संयोजन को बताता है क्या. भगवान प्रभावित नहीं है. "बुद्धिमान हो professing, वे मूर्ख बन गए." (रोमन 1:22) वास्तव में, उन, जो पूरी तरह से भगवान विश्वास नहीं करते शैतान ट्रैक साथ कहीं विश्वास अंत. यह बहुत संभव है विश्वास क्या शैतान भी विश्वास है कि वह मौजूद बिना कहते हैं! शैतान खुलेआम खुद की घोषणा के बिना इतने सारे दर्शन और धर्मों के माध्यम से बोल रहा है. नहीं भी कई वास्तव में पता है कि वे शैतान और उसके राक्षसों के शब्दों पर भरोसा कर रहे हैं.

भगवान इसलिए हमें उम्मीद है उसे और वह क्या कहते हैं विश्वास में धर्मी है. बेहतर कौन योग्य है हमें सच बता और हमें मदद करने के लिए जीवन और अनंत काल के लिए जवाब मिल?

बाइबिल हमें सिखाता है कि वास्तविक विश्वास है (1 पतरस 1:07) "कि बचेगा सोने से ज्यादा कीमती है". वास्तव में ऐसे विश्वास करने के लिए "आग से परीक्षण होने जा रहा है. आप आस्था के अपने जीवन में कठिनाइयों और persecutions, के रूप में के रूप में अच्छी तरह से आशीर्वाद की उम्मीद कर सकते हैं. इसलिए आप पर पकड़ के लिए और अपने विश्वास का विकास प्रोत्साहित करते हैं, हम विश्वास के लाभ के कुछ विचार करेंगे.

1. आस्था लाता है उद्धार . (इफिसियों 2:8,9). Whosever में उसे अनन्त जीवन है विश्वास. (यूहन्ना 3:16), और निर्णय में नहीं आया, लेकिन मृत्यु से जीवन को पारित कर दिया जाएगा.(जॉन 5:24). बस विश्वास से जीवित रहेगा. (रोमन 1:17)

2. आस्था के जवाब लाता है प्रार्थना . "और जो बातें तुम प्रार्थना में पूछना, वास्तव में विश्वास है, आपको प्राप्त होगा " (मैथ्यू 21:22). चूंकि भगवान ने हमें बताता है कि हमारे दैनिक रोटी (मैथ्यू 6:11) के लिए प्रार्थना, विश्वास इसलिए हमारे सामग्री प्रावधान करने के लिए एक चाबी है.

3. विश्वास हमारे जीवन में मुक्ति के सभी लाभ लाता है (इफिसियों 2:8,9). यह चिकित्सा, समृद्धि, शांति, प्रेम, आनन्द (1 पतरस 1:08), शामिल हैं उद्धार राक्षसों से और शाप , पवित्राता मन और भावनाओं (आत्मा की मुक्ति) और किसी भी अन्य लाभ है जो परमेश्वर का वचन के लिए वादा किया हमें

4. विश्वास एक आध्यात्मिक शक्ति है जिसके माध्यम से मसीह के लिए हमारे मंत्रालय प्रभावी हो जाता है. (मार्क 11:23, मत्ती 17:19,20). आस्था मंत्रालय सफलता के लिए एक प्रमुख कुंजी है. यह आप के लिए लाता है क्या आप अपने मंत्रालय के लिए, और दूसरों के लिए यह अपने जीवन और भगवान के शब्द के अपने मंत्रालय के माध्यम से प्रदान की जरूरत है, तुम उन्हें भगवान की कृपा का आशीर्वाद उपर्युक्त को प्राप्त करने के लिए सक्षम है.

5. विशेष रूप से, विश्वास एक प्रभावी उपचार और उद्धार मंत्रालय के लिए प्रमुख कुंजी है. यीशु मसीह वही कल, आज और हमेशा के लिए "में जीवन ईसाई (इब्रियों 13:08, Galatians 2:20), और के माध्यम से ईसाई करने के लिए पुरुषों के लिए एक तरह से वे देख और महसूस कर सकता हूँ में मोक्ष की शक्ति प्रकट करना चाहता है. इस तरह, हमारे इंजीलवाद परमेश्वर के राज्य के विषय में बात करने में नहीं हो सकता है, लेकिन सत्ता में (1 कुरिन्थियों 04:20).

हम देखते हैं कितना महत्वपूर्ण विश्वास है. फिर भी कुछ लोगों को यहाँ निराशा, यह सोच कर कि वे विश्वास नहीं है. फिर भी विश्वास आता है (रोमियो 10:17), यह आगे बढ़ने और विकसित कर सकते हैं. यदि आज आप विश्वास से भरा नहीं कर रहे हैं, इसका मतलब यह नहीं है कि आप उस तरह अपने सभी जीवन हो जाएगा. तुम विश्वास की एक व्यक्ति को चुन सकते हैं!

यहाँ डाउनलोड करें - रिक अलविदा द्वारा आस्था प्रोत्साहित सांग "सब कुछ संभव है," आप इसे पसंद करेंगे! लेखक की अनुमति से यहाँ शामिल है.

यहाँ विकासशील विश्वास करने के लिए कुछ चाबियाँ हैं.

1. परमेश्वर का वचन के रूप में संभव के रूप में में ज्यादा से सुनो. "विश्वास सुनने से आता है, और परमेश्वर का वचन के द्वारा सुनवाई" (रोमियो 10:17). परमेश्वर का वचन को लगातार ध्यान विश्वास का उत्पादन, खासकर अगर हम एक खुले दिल और दिमाग के साथ यह करने के लिए भाग लेने. नीतिवचन की पुस्तक हमें प्रोत्साहित लगातार हमारे दिलों में Word रखने के लिए और यह (4:20-22 नीतिवचन) पर हमारे ध्यान में रखना. स्वास्थ्य वादा लाभ में से एक है.

क्या हम बात को प्रभावित करता है कि हम क्या विश्वास है. यदि हम तुलना में Word में अधिक टीवी सुनो, हम दुनिया के झूठ से हमें विश्वास है कि भगवान क्या कहते हैं विश्वास करेंगे.झूठ को लगातार ध्यान धोखा पैदा करता है. अंततः मन कुछ है कि अगर बात अक्सर काफी सुना है और persuasively पर्याप्त स्वीकार करेंगे. यही कारण है कि क्यों हम परमेश्वर का वचन सुनने के उपदेश, ईसाई टेप, वर्ड, धर्मी ईसाई के साथ दैनिक फैलोशिप की स्वीकारोक्ति के माध्यम से रखना चाहिए. यह हमारे अंत में कारण हमारे दिल से सच विश्वास करेंगे.

2. एहसास है कि हर आस्तिक भगवान द्वारा किया गया है विश्वास का एक उपाय दिया. (रोमन 0:03). हम सिर्फ का उपयोग करने के लिए और विकसित क्या भगवान दिया है. हम यह कार्रवाई में डाल चाहिए.

3. जीभ में प्रार्थना और आत्मा (20 जूदास) से भरा हो. हम बाद में इस पर दिखेगा. यदि आप आत्मा में बपतिस्मा के रूप में चेले अधिनियमों की किताब में थे, तो आप प्रार्थना करते हैं और जीभ में अक्सर प्रशंसा चाहिए क्योंकि इस के माध्यम से आप "अपने आप को उपदेश देना" (1 कुरिन्थियों 14:04) और "अपने आप को अपने सबसे पवित्र में निर्माण "विश्वास. जीभ में प्रार्थना आत्मा से परिपूर्ण किया जा रहा करने के लिए एक चाबी है. चूंकि विश्वास आत्मा का एक फल है, सब बातों चीजें एक साथ संबंधित हैं.

4. मानो परमेश्वर की सजा पवित्रा आत्मा . यह है के रूप में आप चलना है कि तुम ताकत हासिल है. परमेश्वर आप को अधिक से अधिक बातें प्रकट नहीं जब तक आप बातें वह तुम्हें दिखा रहा है अब में वफादार रहे हैं. इसलिए आत्मा के लिए आज्ञाकारिता और क्या वह आप Word के माध्यम से या अपनी अंतरात्मा की आवाज के माध्यम से दिखा रहा है अपनी आस्था के विकास में महत्वपूर्ण है. आप आज्ञाकारिता के कुछ व्यावहारिक कदम उठाने के बिना रहने वाले विश्वास नहीं हो सकता. क्या भगवान कह रही है पर अधिनियम!

5. धन्यवाद करो. परिणामों के लिए धन्यवाद करो इससे पहले कि आप देख. पता चलता है कि तुम भगवान के प्यार और भगवान अपनी स्थिति के लिए जवाब संदेह शिकायत मत करो.धन्यवाद सभी स्थितियों में (1 थिस्सलुनीकियों 5:18) दीजिए.

6. प्रशंसा और पूजा के जीवन का विकास. की स्तुति अंधेरे की शक्तियों को दूर ड्राइव और अपनी परिस्थितियों में परमेश्वर के सिंहासन लाता है. परमेश्वर की स्तुति विश्वास के एक अधिनियम है और अपने विश्वास को विकसित करने के लिए में मदद करता है. यह आज्ञा है (इब्रियों 13:15). पूजा आत्मा के माध्यम से भगवान की प्रशंसा है. यदि आप अनुभव कर सकते हैं जो परमेश्वर है, उसकी शक्ति, सच्चाई और उस में अपने विश्वास और विश्वास और प्रेम बढ़ेगा.

7. के रूप में ज्यादा समय व्यतीत आप कर सकते हैं के साथ के रूप में लोगों के विश्वास की. उन पर विश्वास की भावना को अपने जीवन को भी स्पर्श (नीतिवचन 13:20 ).

8. वर्ड बोलो . अपने मुँह से कह रही है आप अपने विश्वास व्यायाम करके, आप Word सुना है और आप इसे अपने जीवन में निर्माण. भगवान के शब्द अभिषेक और शक्ति है जब यह आध्यात्मिक वातावरण में बदलाव (यहोशू 01:08, रोमन 10:10) बोली जाती है. भगवान के शब्द (भगवान के शब्द के रूप में एक ही बात कह) की स्वीकारोक्ति आप जगह है जहाँ भगवान (इब्रियों 3:01) को पूरा कदम होगा में लाता है. स्वर्गदूतों भगवान के शब्द की आवाज सुनना (भजन 103:20)

9. शोध पवित्रता , हृदय की पवित्रता. "सभी पुरुषों, और पवित्रता के साथ शांति का पीछा, जिसके बिना कोई भी प्रभु देखेंगे . " (इब्रियों 00:14). यह दिल है कि आदमी का मानना ​​है कि है (रोमन 10:10) के साथ है. हद तक है कि दिल अशुद्धता unforgiveness, और अन्य बुरी स्थितियों के भीतर है, आदमी यहोवा जो उसके दिल विश्वास करने के लिए सक्षम बनाता है के आध्यात्मिक धारणा खो देंगे. पवित्रता और विश्वास एक दूसरे फ़ीड.

10. याद रखें कि विश्वास प्यार (Galatians 5:06) द्वारा काम करता है कि. सूबेदार (मैथ्यू 8:5-13) और कनान (मैथ्यू 15:21-28) के महिला दोनों यीशु के आने में दूसरे के लिए अपने प्यार से प्रेरित थे. और दोनों महान विश्वास होने के रूप में वर्णित किया गया. हमें भगवान का मानना ​​है के लिए दूसरों को प्यार की भावना में धन्य करने के लिए, और के रूप में हम हमारे खुद के दे भगवान का आशीर्वाद हमें भी दे (ल्यूक 06:37). यह "बीज विश्वास" के विचार से संबंधित है. देने के कुछ फार्म के मामले में एक बीज रोपण द्वारा अपना विश्वास व्यक्त करते हैं. भगवान बदले में एक गुणा फसल रिहाई अगर हम सहन और बेहोश (इब्रियों 10:36) नहीं है.

मुँह इकबालिया बयान के साथ मोक्ष के इधार किया जाता है (रोमन 10:10 ) मसीह कबूल अपने मुंह के साथ अपने लिविंग और मुक्तिदाता प्रभु को अपने जीवन में भगवान के मोक्ष जारी के बाद से मोक्ष कई लाभ और आशीर्वाद हमारे सही मुँह स्वीकारोक्ति प्राप्त क्या भगवान हमारे लिए अपने अनुग्रह के द्वारा प्रदान की गई है के लिए एक प्रमुख कुंजी है.

हम उस एहसास होना चाहिए "मौत और ज़िंदगी जीभ के सत्ता में है, और जो प्यार है यह फल खा जाएगा." (18:21 नीतिवचन). जीभ के सत्ता में हम बात शब्दों के सत्ता में है. हमारे सभी शब्द हमारे आसपास आध्यात्मिक वातावरण पर एक प्रभाव है, या तो के लिए अच्छा है या बुरा. यह शब्दों के माध्यम से यह है कि वाचाएं और वादों स्थापित कर रहे हैं. यह शब्दों के माध्यम से है कि हमारे विश्वास या अपने भय व्यक्त कर रहे हैं. बुरा शब्दों बुरी आत्माओं काम करने के लिए दरवाजा खुला है. अच्छा शब्द परमेश्वर और उसकी स्वर्गदूतों काम करने के लिए दरवाजा खुला है.

एन्जिल्स भगवान के शब्द (भजन 103:20) की आवाज ध्यान. शब्द आध्यात्मिक बीज हैं. जीवन के शब्द जीवन का उत्पादन. विश्वास उत्पादन विश्वास के शब्द. प्यार का शब्द प्यार का उत्पादन. आशा की शब्द आशा का उत्पादन, और इतने पर. मौत के शब्द मौत की आत्माओं को आकर्षित करने के लिए, संदेह के शब्दों संदेह आकर्षित करने के लिए, डर के शब्दों डर की आत्माओं को आकर्षित करने, और इतने पर. इसलिए हम ध्यान से गार्ड क्या हम कह नहीं करना चाहिए. बाइबिल नीतिवचन की पुस्तक (; 12:18, 22; 14:23, 33; 15:01, 4, 28 उदा 10:19 नीतिवचन, 20, 31, 32) में विशेष रूप से करने के लिए इस विषय पर कहना ज्यादा है. यीशु ने कहा, "लेकिन मैं तुमसे कहता हूं कि के लिए हर निष्क्रिय शब्द पुरुषों में बात कर सकते हैं, वे न्याय के दिन पर के खाते दे देंगे के लिए आप अपने शब्दों द्वारा उचित होगा, और आप अपने शब्दों के द्वारा निंदा की किया जाएगा." ( 12:36,37 मैथ्यू). पॉल ने कहा, "और तुम जो भी करो, शब्द या विलेख में, प्रभु यीशु के नाम में सभी करते हैं, उसके द्वारा परमेश्वर पिता का धन्यवाद दे." (03:17 Colossians)

बयान (जी: homologeo) का शाब्दिक अर्थ "एक ही बात कहते हैं" का मतलब है. परमेश्वर का वचन कबूल करने के लिए तो एक ही बात कहते हैं भगवान के शब्द के रूप में कहते हैं मतलब है. जब आप यह कहते हैं, यह विश्वास का उत्पादन करता है क्योंकि यह कहने में आप भी इसे अपने खुद के मुँह से सुनने चाहिए, और वर्ड सुनवाई विश्वास का कारण बनता है (रोमियो 10:17) आ. वर्ड अपने आप को कह, तो आप अपने आप को भगवान के शब्द की सच्चाई के साथ की पहचान. यह बात सुनने के किसी और कुछ कहना है, एक है कि बात कहने के लिए अपने आप को. जितना अधिक आप कहते हैं कि भगवान के शब्द, जितना अधिक आप यह विश्वास है, और अधिक आप यह विश्वास है, और अधिक आप इसे कहेंगे.

"एक आदमी के पेट उसके मुंह के फल के साथ संतुष्ट हो जाएगा, और वह उसके होठों की वृद्धि के साथ भरा किया जाएगा." (18:20 नीतिवचन 12:14 नीतिवचन देखें). इसका मतलब है कि हम शब्दों को हम बात पर फ़ीड. हम क्या कहना है वापस करने के लिए आता है अपने स्वयं के दिल और हमारे अपने आध्यात्मिक स्थिति को प्रभावित. यह एक और कारण वर्ड क्यों कबूल और नकारात्मक नहीं बातें बहुत हमारे विश्वास में मदद मिलेगी है.

कई बार यह बाइबल क्या कहती है, क्योंकि हमारे मन पर्याप्त नहीं नए सिरे से कर रहे हैं के साथ लगातार बात करने के लिए मुश्किल है. हम अभी भी हमारी आत्मा में संदेह है. हम हमारे अवचेतन मन reprogram (रोमन 12:2) शक के बिना भगवान के सिद्धांतों और भगवान का वादा को स्वीकार करना चाहिए. ध्यान, विचार दोहराया, अच्छा उपदेश, इंजील की स्वीकारोक्ति के रूप में सूचित अध्ययन के रूप में अच्छी तरह से यहाँ मदद मिलेगी सुनने के. वर्ड गहराई से हम में प्रवेश करना होगा. यह जिस तरह से हम कर रहे हैं, जिस तरह से हम बोलते हैं, जिस तरह से हम कठिनाइयों और चुनौतियों का जवाब बदल जाएगा. यदि यह नहीं है कि हम भी हमारे Word के उपचार में सतही गया है. हम मानसिक और असली ध्यान और स्वीकारोक्ति के लिए शब्दों का ज्ञान मान्यता प्रतिस्थापित है.

भगवान में विश्वास वार्ता. भगवान "मृत को जीवन देती है और उन चीजों जो मौजूद नहीं है के रूप में हालांकि वे कहते हैं" ( रोमियो 4:17). विश्वास भरे शब्दों के माध्यम से, भगवान ब्रह्मांड (इब्रियों 11:03) बनाया. परमेश्वर के पुत्र के रूप में हम परमेश्वर के imitators, कहा जाता है भगवान की आत्मा से भरा (Eph 5:1,18). जब हम मसीह में हैं और हम भगवान का वादा है, हम कुछ भगवान के रूप में अगर यह अस्तित्व पहले भी हमारे प्राकृतिक होश इसके बारे में जागरूक कर रहे हैं वादा किया है के बारे में बात करने का अधिकार है. यह हमारा विश्वास है कि इस बयान नहीं देखा बातों का पदार्थ देता है . उदाहरण के लिए, अगर हम एक कार के लिए परमेश्वर पर विश्वास है, हम हमारी कार के बारे में बात करते हैं इससे पहले कि हम इसे देख सकते हैं.हम एहसास होना चाहिए कि भगवान ने पहले से ही है (2 पतरस 1:03) और सभी आध्यात्मिक आशीर्वाद (इफिसियों 1:03) "हमें सब है कि जीवन और भक्ति से संबंधित बातें दिया" . लेकिन प्रभावी प्राप्त हमारे विश्वास पर निर्भर करता है. विश्वास उनकी घोषित वादों और वार्ता में परमेश्वर की सच्चाई का विश्वास है और इसलिए कार्य करता है, पहले भी प्राकृतिक आंख देखता है.

असली विश्वास इसी कार्रवाई है. हम इब्रियों 11:4-37 को देखते हुए देखते हैं कि उन जो अपने विश्वास के लिए सराहना कर रहे हैं सब कुछ के रूप में अच्छी तरह से किया. यह संभव है कार्यों, यहां तक ​​कि असली विश्वास के बिना धार्मिक कार्यों, लेकिन इन कार्यों मृत काम कर रहे हैं. विश्वास के बिना आप भगवान कृपया नहीं कर सकता. (इब्रियों 11:06).

कभी कभी विश्वास और काम करता है की इस मामले में भ्रम की स्थिति पैदा होती है . वहाँ काम करता है या वास्तविक विश्वास से है कि वसंत की कार्रवाई के बीच एक कट्टरपंथी अंतर है, और से वसंत में काम करता है जो एक भगवान की स्वीकृति कमा के प्रयास में स्व. पूर्व वास्तविक विश्वास से अलग नहीं किया जा सकता है. बाद भगवान (यशायाह 64:6) गंदे टुकड़े के रूप में कर रहे हैं, और गलत हैं क्योंकि उन्हें समझ या नहीं भगवान मुक्त स्वीकार कर सकते हैं के साथ आदमी पर कब्जा कर लिया अनुग्रह है कि यह अनुग्रह द्वारा है, मसीह के द्वारा है कि हम बच रहे हैं, और हमारे स्वयं के द्वारा नहीं काम करता है.

विश्वास परमेश्वर का वचन, परमेश्वर और एक पर भरोसा दिल से आज्ञाकारिता में में कार्य करता है की आवाज सुनता है. भगवान अक्सर हमारे विवेक के माध्यम से अपने आत्मा के द्वारा हमारे लिए बोलती है हमें कार्रवाई की एक विशेष प्रकार है जो भगवान के शब्द पर आधारित है की दिशा में दबाव. भगवान के सुझाव के लिए रियल विश्वास पैदावार और यह करता है.

यीशु ने अंधे आदमी को पूल करने के लिए जाने के लिए धो बताया. अन्धे, जीसस के शब्द के लिए आज्ञाकारिता में अभिनय इससे पहले कि वह उपचार प्राप्त करने के द्वारा, विश्वास की तरह है जो भगवान ने उस स्थिति में उसे आवश्यक प्रदर्शन किया, और वह चंगा हो गया. (जॉन 9:07). अगर वह नहीं माना था, वह नहीं किया गया है चंगा होगा.

परमेश्वर ने इब्राहीम से कहा कि अपने बेटे इसहाक बलिदान के रूप में की पेशकश. इस मामले में इब्राहीम की आज्ञाकारिता अपने विश्वास की वास्तविकता का प्रदर्शन किया. (जेम्स 2:20-24).यहां तक ​​कि आस्था को न्यायोचित ठहरा निष्क्रिय नहीं है. यह पाप में आराम नहीं करता है. विश्वास सही ठहराते पश्चाताप के साथ काम करता है भगवान महान उद्धार प्राप्त करने के लिए दरवाजा खुला है.

इस पाठ के समापन में हम विश्वास के मुख्य दुश्मन के कुछ और कैसे वे दूर किया जा सकता है पर विचार करेगी.

1. अज्ञान . आप एक वादा विश्वास नहीं है जब तक आप इसे सुन या इसे पा सकते हैं . बहुत अविश्वास तथ्य यह है कि लोगों को अभी पता नहीं क्या बाइबिल कहती है के बाहर ही उगता है.इस के लिए इलाज के अध्ययन के लिए, और Word के ध्यान विचार है .

2. अविश्वास. इस पाप के लिए भगवान पर विश्वास नहीं पसंद है. यह आमतौर पर गर्व विद्रोह, और अज्ञानता से प्रेरित है. इस के लिए इलाज है इसलिए विनम्र किसी, किसी के मन बदलने के लिए, विश्वास करने के लिए चुनते हैं. उपवास मांस किया डालता है और अक्सर अविश्वास की शक्ति को नष्ट करने में बहुत प्रभावी है, क्योंकि यह सुखद में खुद को और परमेश्वर की आवाज को कामुक distractions से हटाने में एड्स. यदि सही ढंग से किया यह हमें मदद करने के लिए भगवान पर ध्यान केंद्रित कर सकते हैं और आध्यात्मिक बातों हमें तीव्र कर देगा, जिससे अविश्वास को नष्ट.

3. डर. नकारात्मक डर बुरी बातें आने की वास्तविक उम्मीद पर आधारित एक नकारात्मक भावना है. यह चिंता और परमेश्वर पिता के संरक्षण और प्यार में विश्वास की कमी में निहित है.परफेक्ट प्यार डर बाहर डाले. (04:18 1Jn). भगवान सही प्यार है. इसलिए भगवान की मांग की, उनकी उपस्थिति और उनकी आत्मा की परिपूर्णता हम भय से मुक्त सेट हो जाएगा. जब हम भगवान की शक्ति के प्रति सचेत कर रहे हैं यह बहुत आसान है करने के लिए साहसी और बोल्ड हो. हम सफलता की उम्मीद है जब हम होशपूर्वक परमेश्वर का पूरा कर रहे हैं और पता है कि हम कर रहे हैं क्या वह हमें करने के लिए कह रही है. डर पर काबू पाने के लिए हम भगवान के लिए और नहीं प्राकृतिक विचार है जो हमारी विफलता के कारण अगर भगवान हमारे साथ नहीं थे सकता है दिखना चाहिए. पीटर हवा और लहरों के लिए देख, एक भय है जो अपने विश्वास झोले के मारे हुए और उसे सिंक करने के लिए कारण द्वारा दूर किया गया था. वह यीशु को देख रखने की जरूरत है. भगवान कहते हैं, ", के लिए मैं तुम्हारे साथ हूँ डर नहीं है." (Is. 43:5). भगवान ने हमें एक कारण के लिए डर नहीं, और एक आज्ञा देता है. या भगवान को छोड़कर किसी को कुछ भी डर के लिए एक पाप है. हम भगवान से भरा जा रहा है और उसे देख कर इस पाप को दूर कर सकते हैं. इसके अलावा, हम सभी पुरुषों को माफ कर अगर हम चाहते पीड़ा के लिए इस प्रपत्र से दिया जा चाहिए. (माउंट 18:34, मैं जे.एन. 4:18)

4. संदेह है. संदेह विश्वास करने के लिए एक दुश्मन है क्योंकि यह एक आवाज है कि हम क्या विश्वास होना चाहिए की विश्वसनीयता या सच चुनौतियों के साथ बोलता है. संदेह पर काबू पाने के लिए हम खुद को परमेश्वर का वचन है, उस पर गहराई से और repetitively ध्यान के साथ भरने चाहिए. संदेह एक का सबूत है unconsecrated दिल और दिमाग. यह भगवान के शब्द के प्रति समर्पण की कमी का सबूत है. संदेह, भय की तरह torments,. हम दूसरों को माफ कर दो और भगवान से हमारे पूरे दिल देना चाहिए . हम राक्षसों की आवाज या अपने स्वयं के कामुक शुरुआती दिनों से प्रशिक्षित करने के लिए भगवान का विरोध मन की आवाज सुनने से रोकना होगा . यह एक निर्णय है. यह दूसरों के मामलों को सुनने के लिए शक पर काबू पाने में मदद करता है. हालांकि, पूरी तरह से शक हो सकता है जब तक हम भगवान की आवाज के रूप में अमेरिका बाइबल का इलाज कभी नहीं दूर करेंगे.

5. निराशा . कभी कभी हम शारीरिक या भावनात्मक कमजोरी या थकान की वजह से हतोत्साहित महसूस हो रहा है. हम अन्य ईसाइयों के व्यवहार से निराश हो सकता है. हम दूसरों के उत्पीड़न से हतोत्साहित किया जा सकता है, हमारे परिवारों की भी है. शायद हम के लिए हो सकता है क्या इंतज़ार किया है या भगवान ने हमें करने के लिए वादा नहीं कर सकते, और हम अधीर बढ़ने . उनके जीवन में कुछ समय में कई ईसाई परमेश्वर के साथ निराश हो जाते हैं. शैतान उदासी का उपयोग करता है को कमजोर करने के लिए और यदि संभव हो तो हमारे विश्वास को नष्ट कर. प्रभु में, निराशा पर काबू पाने के लिए हम एक निर्णय करना चाहिए करने के लिए मजबूत हो सकता है (इफिसियों 6:10 इब्रियों 00:12). हम के लिए मजबूत हो और हमारी कमजोरी और विफलता के लिए बहाने बनाने बंद करना चाहते हैं . हम अतीत में भी कठिनाइयों (इब्रियों 10:32-34) के माध्यम से भगवान ने हमें करने के लिए सच्चाई पर विचार करना चाहिए. हम खुद को भगवान के शब्द के प्रति पुन: समर्पित, कृतज्ञता के लिए चाहिए और प्रार्थना करने के लिए और आत्मा की आवाज, . हम छोटी - छोटी बातों में आत्मा का पालन करने के लिए सीखने की जरूरत है . कभी कभी भी परमेश्वर के महान पुरुषों एलिय्याह की तरह हतोत्साहित किया गया. एक समय, एक महान जीत के बाद भी, वह ईजेबेल, चुड़ैल से भाग गया.भगवान एलिय्याह स्वर्गदूतों के मंत्रालय के माध्यम से बहाल, उसकी आवाज के माध्यम से, और हो रही द्वारा उसे आशा का वादा से भरा भगवान के लिए नए मिशन में कब्जा कर लिया.

5. प्यार की स्तुति की . यहां तक कि ईसाई लोग - जब आप और अधिक लोगों में रुचि रखते हैं आप के बारे में सोच, क्या भगवान आप का मानना ​​है कि यीशु के अनुसार, अधिक से अधिक, तो आप वास्तव में उस में विश्वास करने में सक्षम नहीं हो जाएगा. क्यों? क्योंकि भगवान की प्राथमिकताओं और आदमी अलग हैं. यीशु ने कहा, "आप कैसे विश्वास है जो एक दूसरे से सम्मान प्राप्त होता है, और सम्मान है कि केवल परमेश्वर की ओर से आता है की तलाश नहीं कर सकते हैं? " (जॉन 05:44)

इस पर काबू पाने के लिए, आप प्रार्थना और आज्ञाकारिता के माध्यम से भगवान के साथ एक व्यक्तिगत संबंध विकसित करना चाहिए. आप अपने पुराने स्वरूप में कमजोर होने के लिए अनुमति के रूप में आप परमेश्वर और कोई हाँ प्रशंसा और मान्यता की मांग के लिए इन इच्छाओं को कहना चाहिए.

भगवान हम सब बुला रहा है कार्रवाई में कई मायनों में हमारे विश्वास डाल. निम्नलिखित सबक के कई व्यावहारिक क्षेत्रों में जो एक ईसाई के रूप में हम अमल में लाना चाहिए से संबंधित हैं .सच्ची श्रद्धा हमें का नेतृत्व करेंगे चर्च प्रतिबद्धता , प्रार्थना करने के लिए, पानी में बपतिस्मा में पवित्रा आत्मा और मसीह के बारे में दूसरों को बताने.

 

Comments

Thank You

Hi Michael,
Thank you for posting all these articles in hindi. I can now ask my people to come to this website and read in hindi.
I would just like to add one point ie instead of the word "Bhagwan" please write "Ishwar". Hindi Bible uses "Ishwar" for our "Living God".
"Bhagwan" or "Devta" or "Devi" are usually related to pagan gods.

In Christ